बड़ी खबर : किसी भी वक़्त नेस्तनाबूत हो सकता था लाल किला? सफाई के दौरान जो मिला वो हैरान कर देगा !

loading...

भारत में एक से बढ़कर एक ऐतिहसिक चीजें हैं जिन्हें देखने के लिए लोग देश विदेश से आते हैं. दुनिया के सात अजूबों में से एक ताजमहल को दुनियाभर के लोग देखने आते हैं. ये उत्तर-प्रदेश के आगरा में स्थित है. मुमताज की याद में बनवाए ताजमहल के नज़ारे को देखने के बाद खुश हो जाते हैं. वहीँ हम बात करें दिल्ली के लाल किले की. जो भारत की ऐतिहासिक धरोहर है. यहाँ प्रधानमंत्री और राष्ट्रपति हर साल 15 अगस्त और 26 जनवरी को ध्वजारोहण करते हैं. इसी लाल किले को लेकर एक ऐसी खबर आ रही है जिसे जानने के बाद आपको भी झटका लग सकता है.

किसी वक्त भी नेस्तनाबूत हो सकता था लाल किला
जी हाँ लाल किले को लेकर बेहद ही हैरान करने वाली खबर आ रही है. अगर समय के चलते ध्यान नही दिया गया होता तो किसी भी वक्त भारत की ऐतिहासिक धरोहर लाल किला का अगला हिस्सा घ्वस्त हो सकता था? मिली जानकारी के अनुसार बता दें लाल किले की सफाई के दौरान जो मिला है वो जानकर आपके होश उड़ना तय है. लाल किले की छत से अब तक 25 लाख किलो धूल मिटटी मिली है. जिसे अब तक हटा दिया गया है और अभी भी सफाई जारी है.

100 साल में हुआ ये हाल
लाल किले से मिट्टी हटाने का काम काफी समय से चल रहा है. 100 साल से सफाई ना होने के बाद ये हाल हो गया कि पिछले 5 महीने से एएसआई लाल किले की छत से धूल मिट्टी हटाने का काम कर रही है. बताया जा रहा है कि प्राचीर के अगले हिस्से पर करीब 2 मीटर की मिट्टी की ऊँची परत जम गयी थी. निगरानी कर रहे अधिकारीयों ने बताया है कि अगर ये मिट्टी समय के चलते नहीं हटाई गयी होती तो 162 साल पुरानी ऐतिहासिक धरोहर ध्वस्त हो जाती? किले पर जमी भारी धूल से किले को भारी नुकसान हो रहा है.

गौरतलब है कि 100 साल से देखभाल ना होने के कारण लाल किले की दीवार में नमी आने लगी थी जिससे बड़ी घटना हो सकती थी. लाल किले का ये वही हिस्सा है जहाँ हर वर्ष प्रधानमंत्री खड़े होकर भाषण देते हैं. पुरातत्व विभाग अब 60 करोड़ रूपये खर्च कर किले की सफाई और मरम्मत कराने का कार्य करवाएगा.

loading...
SHARE