शनिदेव के क्रोध से बच पाना है बहुत ही है मुश्किल इन दो राशियों को संभल कर रहना होगा….

loading...

मित्रों जैसा की आप सभी अवगत ही होगें कि इस संसार में हर एक मनुष्‍य के जीवन में कुछ न कुछ उथल पुथल चलती रहती है। जिसका क्रम निरंतर चलता रहता है। हालांकि हमारे जीवन में कुछ भी घटित होने वाला होता है, तो उसके संकेत अवश्‍य मिलते है, पर हम उन संकेतों को समझ नही पाते है। इसके संबंध में हमारे शास्‍त्रों में सविस्‍तार बताया है, है, यही वजह है, की अपने भविष्य को जानने के लिये हर कोई ज्‍योतिष का सहारा लेता है। ज्‍योतिष के अनुसार मनुष्य के जीवन में ग्रहो की चाल का बहुत बड़ा महत्व होता है, इनकी चाल से सीधा हमारे सामान्य जीवन पर असर पड़ता है। इस बार जो परिवर्तन हो रहा है, उससे शनिदेव काफी क्रोधित हो रहे है, जिसके चलते दो राशि वालों को संभल कर रहना होगा।

आपको बता दें कि सबसे क्रूर ग्रह को सर्वोच्‍च न्‍यायाधीश की उपाधि दी गई है, जिन्‍हे हम लोग भगवान शनि देव के नाम से भी जानते है, जो अनुचित कार्य करने वालों को समय आने पर दंण्‍ड अवश्‍य देते है। हिन्दू धर्म की मान्‍यतानुसार शनिदेव को न्याय का देवता कहते हैं, इनकी कृपा जिसके ऊपर भी हो जाती है उस इंसान को कोई भी परेशानी नहीं आ सकती। शनिवार के दिन शनि महाराज को दीपक जलाने का काफी महत्व होता है। ऐसा करने से इनके क्रोध को शांत किया जा सकता है।

आपकी जानकारी के लिये बता दे कि इस बार जिन दो राशियों पर शनि भगवान का क्रोध टूटने वाला है। उनमे पहली राशि मकर है, व दूसरी राशि मिथुन इन दोनों राशियों को काफी समभर कर रहना अति आविश्‍यक है,इन दिनों आपके प्रेम संबंधों में कठिनाइयां आ सकती है, किसी से विश्वासघात मिलने के पूर्ण संकेत दिखाई दे रहे हैं, आप बिना सोचे समझे निवेश करने से बचें,नई नौकरी मिलने की संभावना है, और अटके हुए कार्य पूरे होंगे,अपने कार्य को सिद्ध करने के लिए पीपल के नीचे गुड मिश्रित जल अर्पित करें।

loading...
SHARE